उत्तर प्रदेश: केन्द्र ने किसानों की मदद नहीं की

akhilesh_yadavलखनऊ, 16 मई। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा को चालू पार्टी बताया और केंद्र में सत्तारूढ पार्टी के नेताओं पर झूठ बोलने का आरोप लगाया। मुख्यमंत्री ने फसल चौपट होने के कारण खुदकुशी करने वाले 51 किसानों के परिवार को सहायता राशि का चेक बांटा। पीडित परिवार आठ जिलों से आये। चेक बांटने के बाद पत्रकारों से वार्ता के दौरान अखिलेश ने कहा, भाजपा के नेता मंच सजाकर झूठ बोलते हैं। इस पार्टी के नेताओं ने किसानों को भी नहीं छोड़ा। भाजपा बहुत ही चालू पार्टी है।

भाजपा के नेता किसी को भी विश्वास में लेकर झूठ बोलते हैं। ये लोग करते कुछ भी नहीं, शोर ज्यादा करते हैं। केंद्र सरकार पर किसानों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, हमने किसानों के नुकसान की सारी रिपोर्ट केंद्र सरकार के पास भेज दी है, लेकिन हमें किसानों के लिए अभी तक कोई मदद नहीं भेजी गयी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता ने भाजपा को सबसे ज्यादा सांसद दिये हैं, साथ ही केंद्र के पास बडा खजाना है। इसलिए केंद्र सरकार को आपदा के समय किसानों की जमकर मदद करनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बेहद अफसोस की बात है कि अभी तक केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश के किसानों की जरा भी मदद नहीं की है। एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा, मैं पूछता हूं कि केंद्र सरकार खुद बताये कि उसने जनता के लिए अब तक क्या किया है। उन्होंने कहा कि उप्र सरकार मौजूदा वित्तवर्ष को किसान वर्ष के रूप में मना रही है। सरकार पूरे साल किसानों की मदद करेगी।

उन्होंने कहा, आपदा पीड़ित किसानों के बीच हमने अभी तक करीब दो हजार करोड़ रुपये बांटे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब कभी कोई प्राकृतिक आपदा आती है तो सबसे ज्यादा नुकसान किसानों का ही होता है। अखिलेश ने शुक्रवार को बांदा, मैनपुरी, महोबा, मुजफ्फरनगर, बदायूं, हमीरपुर, संभल और प्रतापगढ जनपद के 51 पीडित परिवारों को सहायता राशि बांटी। हर परिवार को सात लाख रूपये के चेक दिये गये।