नन के साथ बलात्कार

rape_imageमध्यप्रदेश। रायपुर, 20 जून। भारतीय जनता पार्टी शासित छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक नन के साथ सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है। पीड़िता नन को स्थानीय डॉक्टर भीमराव अंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इधर पुलिस ने बलात्कार का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

रायपुर के आईजी पुलिस जीपी सिंह ने बताया, “शहर के पंडरी थाना इलाके में क्रिश्चियन मिशनरी द्वारा एक मेडिकल सेंटर चलाया जाता है। रात में अपनी ड्यूटी करके पीड़िता नन वहीं सो गयी। आरोप है कि देर रात दो लोगों ने कमरे में प्रवेश किया और वहां रहने वाली 46 वर्षीय नन के साथ कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया।”

सुबह इस घटना की जानकारी मेडिकल सेंटर में रहने वाली दूसरी महिलाओं को हुई और उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी। जिले के पुलिस अधीक्षक बद्री नारायण मीणा का कहना है कि फिलहाल मेडिकल रिपोर्ट नहीं आ पायी है लेकिन पुलिस ने आरंभिक बयान और सबूतों को आधार बना कर जांच शुरू कर दी है।
इधर इस घटना के बाद ईसाई समुदाय में आक्रोश का वातावरण बना हुआ है। शनिवार की शाम इस घटना का विरोध करने के लिए बड़ी संख्या में लोग राजधानी रायपुर के जयस्तंभ चौक पर एकत्र हुए। रविवार को इस मुद्दे पर विरोध प्रदर्शन के लिए ईसाई समुदाय ने राजभवन तक मार्च करने की घोषणा की है।

छत्तीसगढ़ क्रिश्चियन फोरम के महासचिव अरुण पन्नालाल ने कहा है कि राज्य में जिस तरह से अल्पसंख्यक समाज पर हमले बढ़े हैं, यह उसका एक नमूना है और पुलिस को इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करनी चाहिए।