अजिंक्य की कप्तानी में पहली जीत

rayudu_hits_centuryहरारे, 10 जुलाई। भारत और जिम्बाब्वे के बीच पहला एकदिवसीय अंतराष्ट्रीय मैच शुक्रवार 10 तारीख को हरारे में खेला गया। अजिंक्य रहाणे के नेतृत्व में जिम्बाब्वे के खिलाफ पहले एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच में भारत ने आखिरी गेंद पर 4 रन की रोमांचक जीत दर्ज की। अंबाती रायुडु के शतक और स्टुअर्ट बिन्नी के आलराउंड खेल ने भारत को यह जीत दिलायी।

रायुुडु ने 133 गेंद का सामना किया। 13 चौके और एक छक्का लगाया और नाबाद 124 रन की मजबूत पारी खेली। उन्होंने बिन्नी (77) के साथ छठे विकेट के लिए 160 रन की रिकार्ड साझेदारी की जबकि भारत ने शीर्ष क्रम के पांच विकेट 87 रन पर गंवा दिये थे। रायुडु और बिन्नी ने आखिर में भारत को 6 विकेट पर 255 रन के चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाया।

जिम्बाब्वे के शातिर बल्लेबाज चिंगुबुरा ने भारतीय खेमे को हिलाकर रख दिया। उन्होंने 101 गेंदों पर 8 चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 104 रन बनाये। उन्होंने ग्रीम क्रेमर (27) के साथ सातवें विकेट के लिए 86 रन की साझेदारी की लेकिन आखिर में जिम्बाब्वे सात विकेट पर 251 रन तक ही पहुंच पाया। जिम्बाब्वे की तरफ से सिकंदर रजा ने भी 37 और हैमिल्टन मास्कादजा ने 34 रन का योगदान दिया।

भारतीय गेंदबाजों ने जिम्बाब्वे को भी शुरू में झटके दिये लेकिन चिगुंबुरा ने एक छोर संभाले रखा। भुवनेश्वर कुमार ने पारी के पांचवें ओवर में चामू चिभाभा (3) को आउट करके भारत को शुरूआती सफलता दिलायी। दूसरे बदलाव के रूप में आये बिन्नी ने बुसी सिबांडा (20) की पारी का अंत किया।
अक्षर पटेल ने हैमिल्टन मास्कादजा (34) और सीन विलियम्स (0) को लगातार ओवरों में आउट करके भारत का पलड़ा भारी कर दिया लेकिन सिकंदर रजा आते ही गेंदबाजों पर हावी हो गये। उन्होंने हरभजन की गेंद पर अक्षर को कैच थमाने से पहले 33 गेंदों की अपनी पारी में सात चौके लगाये। बिन्नी ने विकेटकीपर रिचमंड मुतुबामी (7) को अधिक देर तक नहीं टिकने दिया लेकिन क्रेमर के रूप में चिंगुबुरा को अच्छा साथी मिला।