बिहार: त्रिशंकु विधानसभा की आशंका

पटना। पांचवें चरण के मतदान के साथ बिहार विधानसभा चुनाव गुरुवार को संपन्न हो गये और विभिन्न एजेंसियों के एक्जिट पोल में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन को सर्वाधिक सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया गया है। हालांकि लगभग सभी एजेंसियों ने त्रिशंकु विधानसभा की आशंका व्यक्त की है। टाइम्स नाऊ और सी-वोटर के एक्जिट पोल में महागठबंधन को 112 से 132 सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया गया है, जबकि 243 सीटों वाले बिहार विधानसभा में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को 101 से 121 सीटें मिल सकती हैं। हर तरह की संभावनाओं को मिलाकर महागठबंधन को आधे के लगभग 122 सीटें और जबकि राजग को 111 सीटें मिल सकती हैं।

इंडिया टुडे और सिसेरो के एक्जिट पोल के मुताबिक, एनडीए को 120 सीटें मिल सकती हैं, जबकि नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले महागठबंधन को 117 सीटें मिलने की संभावना व्यक्त की गयी है।

मतदान बाद किए गए सर्वेक्षण में भाजपा गठबंधन को 113 से 127 सीटें मिल सकती हैं, जबकि महागठबंधन को 111 से 123 सीटें मिलने की संभावना है।

एबीपी न्यूज के एक्जिट पोल के मुताबिक, एनडीए को 108 सीटें मिलती नजर आ रही हैं जबकि महागठबंधन 130 सीटें जीत सकती है।

न्यूज नेशन ने एनडीए को 115 से 119 सीटें मिलने की उम्मीद जतायी है, जबकि महागठबंधन 120 से 124 सीटें जीत सकती हैं।

टुडेज चाणक्य के पोल ने राजग को 155, महागठबंधन को 85 व अन्य को 5 सीटें मिलने की उम्मीद जतायी है।

समाचार चैनल न्यूज एक्स ने अंतिम चरण का मतदान खत्म होते ही एक एग्जिट पोल के नतीजे दिखाये, जिसमें सत्तारूढ़ जनता दल (युनाइटेड) के नेतृत्व वाले महागठबंधन को जीत की ओर बढ़ता दिखाया गया।

नीतीश कुमार की अगुवाई वाले महागठबंधन को 130 से 140 सीटें मिलने की संभावना बतायी गयी है। वहीं, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले गठबंधन को 90 से 100 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है। एग्जिट पोल के मुताबिक, अन्य छोटी-छोटी पार्टियों के खाते में सात सीटें जा सकती हैं।

243 सीटों वाले बिहार विधानसभा चुनाव में सरकार बनाने के लिए 122 सीटों की जरूरत है, जो किसी भी दल को मिलता नजर नहीं आ रहा।