खान घोटाला:अशोक सिंघवी समेत 8 पर चार्जशीट

ashok_singhvi_charge_sheetedजयपुर। खान विभाग में भ्रष्टाचार के मामले में गुरूवार को एसीबी ने चार्जशीट पेश कर दी है। तीन हजार पन्नों की चार्जशीट में गिरफ्तार आठ आरोपियों के खिलाफ चालान पेश किया है। तत्कालीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अशोक सिंघवी पर तो दस साल तक की सजा के प्रावधान के आरोपों वाली पीसी एक्ट की धाराएं लगायी गई हैं। साथ ही आईपीसी एक्ट की धारा 120 बी और 409 में चालान पेश किया गया है।

एसीबी ने अपनी जांच में पाया है कि अशोक सिंघवी द्वारा गंभीर भ्रष्टाचार किया गया और एक नहीं कई दफा किया गया। इसके अलावा सिंघवी पर पीसी एक्ट की धारा 7, 8, 9, 10, 13 और 14 लगायी गयी है। ये सभी धाराएं उस सरकारी अधिकारी पर लगायी जाती है जो सरकार को न केवल राजस्व की हानि पहुंचा रहा हो बल्कि सरकार का पैसा लेकर गलत लोगों की मदद कर रहा हो। खुद लोक सेवक रहते हुए अपने पद का दुरूपयोग करते हुए अन्य लोक सेवक पर प्रभाव डालना, पब्लिक सर्वेंट का उत्पीडन करना, साथ ही एसीबी ने अपनी जांच में पाया है कि सिंघवी ने केवल एक बार नहीं बल्कि कई दफा अपराध किया है।

इस मामले में आईपीसी की धारा 120 बी और 409 में भी चालान पेश किया गया है जिसमें साफ तौर पर मिलीभगत करके आपराधिक षडयंत्र करना माना है। एसीबी ने अपनी चार्जशीट में कहा है कि सिंघवी ने अपने निजी स्वार्थ के लिए खनिज संपदा को बर्बाद किया है। इसी तरह एसीबी की चार्जशीट में अन्य आरोपियों तत्कालीन अतिरिक्त निदेशक पंकज गहलोत, पीआर आमेटा, संजय सेठी, श्याम सिंघवी, शेर खान और बिचौलिए समेत आठ लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार के कई आरोप लगाये गये हैं। साथ ही ढाई करोड की रिश्वत मामले के अलावा अन्य मामले में एसीबी ने कुछ मामले धारा 173, 8 में पैंडिंग रखे है।