आसाराम को सुब्रमण्यम स्वामी का भरोसा

asaram
जयपुर। जोधपुर में आसाराम के यौन उत्पीडन मामले की सुनवायी सीजेएम-ग्रामीण कोर्ट में चल रही है। बुधवार को पुलिस की लापरवाही के चलते कुछ आसाराम समर्थक कोर्ट रूम के बाहर तक जा पहुंचे। कुछ दिनों पूर्व ही कोर्ट ने आदेश जारी किए थे कि आसाराम समर्थक कोर्ट परिसर में नही जुटने चाहिए। लेकिन अब पुलिस की सुस्ती के चलते आसाराम समर्थकों से हौंसले बुलंद होते जा रहे है।

नाबालिग से यौन उत्पीडन के आरोप में जेल में कैद आसाराम को बुधवार को नियमित सुनवायी के तहत सीजेएम ग्रामीण कोर्ट में पेश किया गया। लेकिन इस दौरान आसाराम के समर्थक कोर्ट रूम के बाहर तक जा पहुंचे जिनमें एक महिला भी शामिल थी। बाद में पुलिस ने आसाराम समर्थकों को वहां से भगा दिया।

यौन उत्पीडन केस में बुधवार को आसाराम को कोर्ट में पेश किया गया लेकिन एक बार फिर सुनवाई टल गयी। अनुसंधान अधिकारी चंचल मिश्रा के कोर्ट नहीं पहुंचने के चलते सुनवाई को गुरूवार तक के लिए टाल दिया गया। सीजेएम कोर्ट तक पहुंचे आसाराम समर्थक, पुलिस ने भगाया।

कोर्ट से बाहर निकलते समय आसाराम को पत्रकारों ने घेर लिया। जमानत सम्बन्धी सवाल पर आसाराम ने कहा कि सुब्रमण्यम स्वामी जल्द ही उन्हें जमानत दिलवा देंगे। वहीं बुधवार को आसाराम की तबियत भी कुछ नासाज दिखी। तबियत के बारे में पूछे जाने पर आसाराम ने कहा कि उनका इलाज तो चल रहा है लेकिन जेल में जैमर लगे होने के कारण उनकी तबियत ठीक नही हो पा रही है।