एयरगन से हिरण का शिकार कैसे किया सलमान ने?

salman_khan
जयपुर। फिल्म अभिनेता सलमान को हिरण शिकार मामले में दी गयी एक साल की सजा को चुनौती देने वाली अपील पर राजस्थान हाईकोर्ट में बुधवार को भी सुनवायी अधूरी रही। सलमान खान की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता महेश बोडा और हस्तीमल सारस्वत के साथ निशांत बोडा ने पैरवी की।

उन्होंने सलमान को निचली अदालत द्वारा दी गयी एक साल की सजा को अवैध ठहराने का प्रयास किया। बचाव पक्ष ने जस्टिस निर्मलजीत कौर की अदालत में दलीले पेश करते हुए एक बार फिर अनुसंधान के दौरान मुंबई से बरामद एयरगन से हिरण का शिकार करने पर सवाल उठाये।

उन्होंने कहा कि एयरगन से दूर भागते हिरण को तो क्या पास में खड़े हिरण का भी शिकार नहीं हो सकता। क्या हिरण खुद सलमान के पास एयरगन के छर्रे खाने आया था। गौरतलब है कि मंगलवार को जस्टिस निर्मलजीत कौर की अदालत में बचाव पक्ष ने करीब एक घंटे तक अपनी दलीलें पेश की थीं लेकिन समय कम होने के चलते सुनवायी अधूरी रही थी।

सलमान की ओर से अधिवक्ताओं ने कहा था कि इस मामले में आर्शीवाद होटल की पूरी कहानी ही फर्जी है क्योंकि इस बारे में किसी ने भी सकारात्मक गवाही नहीं दी लेकिन अभियोजन पक्ष ने इसी होटल के सहारे आरोप सिद्ध करने का प्रयास किया था। निचली अदालत ने इसे सत्य मान लिया और एक साल की सजा दे दी गयी।