क्या हम काले धन के स्वागत को तैयार हैं?

mohan_das_paiइंफोसिस के पूर्व निदेशक टीवी मोहनदास पई ने कहा है कि केंद्र सरकार की काला धन पता लगाने की रणनीति मजाक है, क्योंकि सरकार के पास अपराधियों को पकड़ने और उन्हें तुरंत जेल में डालने की कोई नीति, कानून या खुफिया ताकत नहीं है। इसे नरेंद्र मोदी सरकार की बड़ी असफलता करार देते हुए पई ने कहा कि लक्ष्य प्राप्त करने के लिए बेहतर जांच और अभियोजन प्रणाली की जरूरत है, क्योंकि मौजूदा कानून बेकार है।

मणिपाल ग्लोबल एजुकेशन सर्विसेज के मौजूदा अध्यक्ष पई ने कहा, पूरी काला धन की रणनीति मजाक है। काला धन का पता लगाने की रणनीति गलत तरीके से तैयार हुई है और यह बेकार है। कोई भी इस देश में रहने के लिए 60 प्रतिशत टैक्स नहीं देगा। दूसरी बात, आपकी काला धन पहल बेहतर नीति और बेहतर सूचना पर आधारित होनी चाहिए।

उन्होंने कहा, सरकार के पास बेहतर अभियोजन क्षमता नहीं है और जब तक बेहतर सूचना प्रणाली न हो, बेहतर तरीके से अभियोजन न हो, फास्ट ट्रैक अदालतें स्थापित न हों, कुछ नहीं होगा।

प्रत्यक्ष कर सुधार पर केलकर समिति के सदस्य रहे पई ने कहा, काला धन आपके लिए किसी विदेशी बैंक में आपका इंतजार नहीं कर रहा कि आप जायें। सूचना प्राप्त करें और इस पर अमल करें। परिष्कृत ढांचे हैं, सरकार को यह पता लगाना चाहिए कि ये ढांचे क्या हैं, कौन कर रहा है और कैसे किया जा रहा है।