आतंकवादी हेडलीः अब वायदा माफ गवाह

david headleyमुंबई में 26/11 हमलों की साज़िश रचने वाले पाकिस्तानी-अमेरिकी आतंकवादी डेविड कोलमन हेडली को विशेष टाडा अदालत ने 26/11 के आतंकवादी हमलों के मामले में माफी दे दी है और सरकारी गवाह बनाया है। कोर्ट ने साफ किया है कि हेडली को 26/11 हमलों में अपनी और बाकी सभी आरोपियों की भूमिका के बारे में बताना होगा और इन हमलों की साजिश के बारे में जानकारी देनी होगी। हेडली की गवाही हमलों के अन्य आरोपियों को सजा दिलाने में अहम साबित होगी।

david_ headley_video_conferencingमुंबई आतंकी हमलों में अपनी भूमिका को लेकर अमेरिका में 35 साल कैद की सजा काट रहे हेडली ने एक अदालत में एक अज्ञात स्थान से वीडियो लिंक के माध्यम से कहा कि वह माफी दिये जाने पर गवाही देने को तैयार है। हेडली आठ फरवरी, 2016 को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये अभियोजन पक्ष के गवाह के तौर पर गवाही देगा।

पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी आंतकी डेविड हेडली को लश्कर-ए-तैयबा का अंडरकवर एजेंट बताया जाता है, उसने लश्कर के ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा लिया था। हेडली ने कथित तौर पर 2006 और 2008 के बीच पांच बार भारत का दौरा किया और इस दौरान उसने मुंबई की रेकी की। उसने ताज, ओबेरॉय होटल और नरीमन हाउस जैसी जगहों पर जाकर वीडियो फुटेज बनाये थे।