सलमान बरी लेकिन ‘‘हू किल्ड नुरूला खान’’

मेरे पिता को किसने मारा?

मेरे पिता को किसने मारा?

सन् 2013 में एक फिल्म आयी थी ‘जॉली एल.एल.बी.’। यह फिल्म एक नामी अरबपति के बेटे द्वारा फुटपाथ पर सोये लोगों पर अपनी लक्जरी कार चढ़ाने के सम्बंध में थी। कहते हैं यह फिल्म एक सच्ची घटना पर आधारित थी, जिसमें सात लोग मारे गये थे। फिल्म में उस अरबपति के पुत्र के बचाव में उसके वकील ने दलील दी कि फुटपाथ सोने के लिए नहीं होते। लेकिन जब विरोधी वकील अपना तर्क पेश करता है कि ‘‘फुटपाथ गाड़ी चलाने के लिए भी नहीं होते, मी लार्ड’’, तो सिनेमा हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज जाता है। अन्त में अपराधी को सजा मिल जाती है।

यहां एक और फिल्म की चर्चा आवश्यक है। ‘नो बडी किल्ड जेसिका’। जेसिका का कत्ल तो हुआ था लेकिन किसी को सज़ा नहीं हुई। आखिर किसी ने तो मारा था उसे। फिर सोशियल मीडिया में आन्दोलन चला और केस दुबारा खुला और कांग्रेस के एक बड़े नेता विनोद शर्मा के बेटे मनु शर्मा को सज़ा हुई।

आरोप है कि 28 सितम्बर 2002 की रात सलमान खान ने नशे में अपनी टोयोटा लेण्ड क्रूजर बांद्रा की अमेरिकन एक्सप्रेस बेकरी के सामने फुटपाथ पर सोये लोगों पर चढ़ा दी। नुरूल्ला खान की मृत्यु हो गयी। कुछ लोग घायल हो गये। निचली अदालत ने मई 2015 में सलमान को पांच साल की सज़ा सुनायी। 10 सितम्बर का दिन सलमान के लिए ढेर सारी खुशियां लेकर आयी इसका संकेत 9 सितम्बर को ही मिल गया था। उच्च न्यायालय ने सलमान खान को सभी आरोपों से बरी कर दिया। माननीय न्यायाधीश ने अपने फैसले में कहा कि पुलिस सलमान के खिलाफ एक भी आरोप सिद्ध नहीं कर सकी।

लेकिन एक प्रश्न अनुत्तरित रह गया, ‘हू किल्ड नुरूल्ला’। यही सवाल नुरूल्ला का पुत्र फिरोज शेख भी पूछ रहा है। फिरोज ने सलमान को तो माफ कर दिया लेकिन वह जानना चाहता है कि उसके पिता को आखिर किसने मारा। ‘‘यदि सलमान नहीं, तो फिर ‘वह’ कौन था? कोई तो था।’’

कानून का काम पूरा हो चुका है। वैसे अभी सुप्रीम कोर्ट का रास्ता बाकी है। पीड़ितों में से तो कोई वहां जायेगा नहीं। मुम्बई पुलिस सुप्रीम कोर्ट जा सकती है, लेकिन इसके लिए सरकार की मंजूरी जरूरी है। भाजपा सरकार इस मुद्दे पर गम्भीर नहीं लगती। शिवसेना भले ही रविन्द्र पाटिल के मामले को लेकर संजीदा है लेकिन नुरूल्ला के लिए शिवसेना के पास समय नहीं है। फिर नुरूल्ला का पुत्र फिरोज भी सलमान को माफ कर चुका है। अब फिरोज चाहता है कि सलमान उसके परिवार की सहायता करे। लेकिन सवाल तो फिर भी खड़ा रहेगा कि नुरूल्ला को किसने मारा।